अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस समारोह पर भगवान महावीर कैंसर चिकित्सालय में योगासन कार्यक्रम

भगवान महावीर कैंसर चिकित्सालय एवं नेटको के तत्वाधान में तीसरे अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस समारोह के उपलक्ष्य में रोगियो एवं कर्मचारियो हेतु योग कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में जीवन को योग द्वारा कैसे स्वस्थ बनाये रखे इसके बारे में समझाया गया।

संस्थान की वरिष्ठ उपाध्यक्षा श्रीमती अनिला कोठारने बताया कि योग शब्द के दो अर्थ है और दोनो ही महत्त्वपूर्ण है। पहला है – जोड और दूसरा है समाधि। जब तक हम स्वयं से नही जुडते, समाधि तक पहुँचना कठिन होगा अर्थात् जीवन में सफलता की समाधि पर परचम लहराने के लिये तन, मन और आत्मा का स्वस्थ होना अति आवश्यक है और ये मार्ग और भी सुगम हो सकता है, यदि हम अपने योग को जीवन का हिस्सा बना ले। सकारात्मक ऊर्जा के लिये योग का विशेष स्थान है।

योग कार्यक्रम में संस्था के चिकित्सा निदेशक डॉ (मे. ज.) एस सी पारीक ने बताया कि आज की तेज रफ्तार जिंदगी में अनेक ऐसे पल है जो हमारी स्पीड पर ब्रेक लगा देते है। हमारे आस-पास ऐसे अनेक कारण विद्यमान है जो तनाव, थकान और चिडचिडाहट को जन्म देते है, जिससे हमारी जिंदगी अस्त-व्यस्त हो जाती है। ऐसे में जिंदगी को स्वस्थ तथा ऊर्जावान बनाये रखने के लिए योग एक ऐसी रामबाण दवा है जो दिमाग को ठण्डा तथा शरीर को फिट रखता है। जीवन जीने की एक कला है योग।

कार्यक्रम में योगा विशेषज्ञ श्रीमती नमिता चौहान द्वारा स्तन कैंसर रोगी, सरवाईवर्स एवं स्टॉफ को विशेष योगा सीखाया गया तथा 100 से अधिक लोगो ने योग कार्यक्रम में हिस्सा लिया एवं अपनी दिनचर्या को योग से शुरू करने की शपथ दिलाई।

Posted in Blog