महिलाओं में स्तन कैंसर का खतरा सर्वाधिक, समय पर उपचार ही बचाव

भीलवाड़ा : कैंसर के लक्षण पहचानते हुए उससे बचाव के लिए जागरूकता उत्पन्न करना जरूरी है। जल्द अवस्था में पता लगने पर कैंसर के ठीक होने की संभावना अधिक होती है।

शनिवार को भीलवाड़ा कैंसर केयर फाउंडेशन एवं भगवान महावीर कैंसर हॉस्पिटल के सयुंक्त तत्वाधान में आयोजित कार्यशाला में वरिष्ठ कैंसर रोग विशेषज्ञ ललित मोहन शर्मा ने यह बात कही। इन्होने कहा की महिलाओं में स्तन एवं बच्चेदानी के  कैंसर का खतरा सर्वाधिक होता है। 

मैमोग्राफी नामक  विशेष प्रकार की एक्स-रे मशीन द्वारा सूक्ष्मतम गाँठ का पता लगाया जा सकता है। चिकित्सा निदेशक डॉ पारीक ने बताया की जागरूकता से ही कैंसर के खतरे को कम किया जा सकता है। इसी मुहिम को आगे बढ़ाते हुए भगवान महावीर कैंसर  हॉस्पिटल द्वारा जल्दी पहचान आपकी सुरक्षा स्तन एवं गर्भशय कैंसर का समयोचित निदान कार्यक्रम चलाया जाता है। कैंसर केयर की अध्यक्षा अनिला कोठारी ने बताया की कार्यक्रम के तहत 40 वर्ष से अधिक आयु  की  महिलाओ हेतु महीने के आखरी शनिवार को 2 से 4 बजे तक मैमोग्राफी एवं पेपस्मीर की जांचे निशुल्क उपलब्ध कराइ जाती है । अगस्त 2014 से चलाई जा रही इस मुहिम में अब तक 400 से ज्यादा महिला ने लाभ उठाया है।

भीलवाड़ा में आयोजित इस कार्यशाला में नगर विकास न्यास अध्यक्ष गोपाल खंडेलवाल , भाजपा जिलाध्यक्ष दामोदर अग्रवाल , पी.एम.बेसवाल, एस.पी.नाथानी, डॉ. नरेश पोरवाल, डॉ. आर.एस.सोमानी  भी मौजूद रहे । 

इस कार्यशाला में 100 से ज्यादा महिलाओ ने बढ़चढ़ कर भाग लिया।

Posted in Blog